Latest Posts:
Poetry Quotes

वो लौह पुरुष हे लौह पुरुष हे युग के पुरुष, तू भारत माँ की शान । ऐसे वीर महापुरुष को, मेरा बारम्बार प्रणाम । भारत की एकता अखंडता को, तूने ही सुनिश्चित करवाया । आजादी का फौलादी इरादा, अपने मन में था भरमाया । राष्ट्रीय एकता स्वप्नद्रष्टा, सामंतशाही के उन्मूलनकारी । बारडोली के सत्याग्रह के जननायक, थे एक कठोर क्रन्तिकारी । सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन था, अद्भुद उपलब्धियों से भरा हुआ । भारत निर्माण में उनका योगदान भी अद्वितीय रहा । सविता की कलम से – Savita Barnwal

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr



वो लौह पुरुष हे लौह पुरुष हे युग के पुरुष, तू भारत माँ की शान । ऐसे वीर महापुरुष को, मेरा बारम्बार प्रणाम । भारत की एकता अखंडता को, तूने ही सुनिश्चित करवाया । आजादी का फौलादी इरादा, अपने मन में था भरमाया । राष्ट्रीय एकता स्वप्नद्रष्टा, सामंतशाही के उन्मूलनकारी । बारडोली के सत्याग्रह के जननायक, थे एक कठोर क्रन्तिकारी । सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन था, अद्भुद उपलब्धियों से भरा हुआ । भारत निर्माण में उनका योगदान भी अद्वितीय रहा । सविता की कलम से
वो लौह पुरुष
हे लौह पुरुष हे युग के पुरुष, तू भारत माँ की शान ।
ऐसे वीर महापुरुष को, मेरा बारम्बार प्रणाम ।
भारत की एकता अखंडता को, तूने ही सुनिश्चित करवाया ।
आजादी का फौलादी इरादा, अपने मन में था भरमाया ।
राष्ट्रीय एकता स्वप्नद्रष्टा, सामंतशाही के उन्मूलनकारी ।
बारडोली के सत्याग्रह के जननायक, थे एक कठोर क्रन्तिकारी ।
सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन था, अद्भुद उपलब्धियों से भरा हुआ ।
भारत निर्माण में उनका योगदान भी अद्वितीय रहा ।
सविता की कलम से



Write A Comment