Latest Posts:
Authors

जिंदगी तुझको भी आजमा के देख लिया। तू भी बेवफा निकली किसी बेवफा की तरह। ‘पुष्पक’ ने बेइंतहा टूट कर, चाहा था तुम्हें। पर तू भी मुक़मल हुई, सिर्फ एक सज़ा की तरह॥

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr



जिंदगी तुझको भी आजमा के देख लिया। तू भी बेवफा निकली किसी बेवफा की तरह। 'पुष्पक' ने बेइंतहा टूट कर, चाहा था तुम्हें। पर तू भी मुक़मल हुई, सिर्फ एक सज़ा की तरह॥
जिंदगी तुझको भी आजमा के देख लिया।
तू भी बेवफा निकली किसी बेवफा की तरह।
‘पुष्पक’ ने बेइंतहा टूट कर, चाहा था तुम्हें।
पर तू भी मुक़मल हुई, सिर्फ एक सज़ा की तरह॥



Write A Comment