Latest Posts:
Positive Quotes

धूप कितनी भी तेज हो समुन्दर सूखा नही पड़ सकता। उसी तरह उमीदों का सागर किसी एक हार से खाली नही हो सकता।

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr



धूप कितनी भी तेज हो समुन्दर सूखा नही पड़ सकता। उसी तरह उमीदों का सागर किसी एक हार से खाली नही हो सकता।
धूप कितनी भी तेज हो समुन्दर सूखा नही पड़ सकता। उसी तरह उमीदों का सागर किसी एक हार से खाली नही हो सकता।



Write A Comment